जाने NEET के टॉप छात्राओं के सफल होने का राज

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (स्नातक), या एनईईटी-यूजी, राष्ट्रीय स्तर पर राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित एक चिकित्सा प्रवेश परीक्षा है।
परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री, जूलॉजी और बॉटनी जैसे विषयों का परीक्षण किया जाता है, जिसमें 720 अंकों के 180 प्रश्न होते हैं। इसमें गलत उत्तरों के लिए नेगेटिव मार्किंग भी है।
NEET-UG को क्रैक करने के लिए टॉपर्स की तैयारी की कुछ उपयोगी रणनीतियां यहां दी गई हैं।

योजना अध्ययन कार्यक्रम
एक यथार्थवादी शेड्यूल बनाएं
एनईईटी-यूजी परीक्षा की तैयारी करते समय सावधानीपूर्वक नियोजित कार्यक्रम का होना महत्वपूर्ण है। अपने स्कूल के घंटों को भी ध्यान में रखते हुए एक योजना बनाएं जो आपको सूट करे।
अध्ययन सत्रों के बीच छोटे-छोटे ब्रेक अवश्य लें ताकि आप अपने दिमाग को आराम दे सकें। पता लगाएँ कि सुबह या रात का अध्ययन सत्र आपके लिए बेहतर है या नहीं और उस पर टिके रहें।

विषयवार समय आवंटन
प्रत्येक विषय को उचित तैयारी का समय दें
प्रत्येक छात्र की अपनी ताकत और कमजोरियां होती हैं। हालाँकि, आम तौर पर, भौतिकी में समय लगता है क्योंकि इसमें संख्यात्मक प्रश्न और सूत्र शामिल होते हैं, जीव विज्ञान बहुत विशाल है और इसलिए विषयों को याद रखने में अधिक समय लग सकता है, और रसायन विज्ञान आमतौर पर सबसे कम समय लेने वाला विषय है।
तैयारी के साथ-साथ परीक्षा के दौरान प्रत्येक विषय के लिए उचित समय आवंटित करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि कुछ भी छूटा नहीं है।

विषयवार समय आवंटन
प्रत्येक विषय को उचित तैयारी का समय दें
प्रत्येक छात्र की अपनी ताकत और कमजोरियां होती हैं। हालाँकि, आम तौर पर, भौतिकी में समय लगता है क्योंकि इसमें संख्यात्मक प्रश्न और सूत्र शामिल होते हैं, जीव विज्ञान बहुत विशाल है और इसलिए विषयों को याद रखने में अधिक समय लग सकता है, और रसायन विज्ञान आमतौर पर सबसे कम समय लेने वाला विषय है।
तैयारी के साथ-साथ परीक्षा के दौरान प्रत्येक विषय के लिए उचित समय आवंटित करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि कुछ भी छूटा नहीं है।

एनसीईआरटी, बाइबिल
एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों के साथ पूरी तरह से जानकारी प्राप्त करें
कई शिक्षकों ने आपसे कहा होगा कि पढ़ते समय एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों की उपेक्षा न करें। यह बहुत सच है, और आपको एनईईटी-यूजी की तैयारी के लिए एनसीईआरटी की किताबों को अपनी बाइबल बनानी चाहिए।
ये पुस्तकें आसानी से समझ में आने वाली भाषा का उपयोग करके चरण-दर-चरण प्रारूप में सब कुछ समझाती हैं। यह विभिन्न अवधारणाओं की मूल बातों को पुख्ता करेगा, जो आपको NEET-UG परीक्षा को क्रैक करने में मदद करेगा।

अच्छा खाओ, अच्छी नींद लो
अपनी सेहत का ख्याल रखें
एक निश्चित नींद कार्यक्रम होने से आपका मस्तिष्क उस जानकारी को अवशोषित करने की अनुमति देगा जो उसने बहुत बेहतर तरीके से सीखी है। रोजाना 10 घंटे से ज्यादा पढ़ाई करने के लिए दिमाग को भी आराम की जरूरत होती है।
एक अच्छी तरह से विश्राम किया हुआ दिमाग भी बेहतर सीखने को सुनिश्चित करेगा। स्वस्थ आहार बनाए रखना और फिट रहना भी NEET-UG में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए आवश्यक है।

डर को रास्ता मत दो
परीक्षा के दौरान शांत रहें
इसके अलावा, NEET-UG के लिए उपस्थित होने के दौरान डर को दूर रखना महत्वपूर्ण है। अगर आपने अच्छी तरह से तैयारी की है तो आपका दिमाग निश्चित रूप से जानकारी को बरकरार रखेगा।
यह महत्वपूर्ण है कि आप शांत रहें और पेपर हल करते समय सकारात्मक सोच रखें। ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका है कि परीक्षा के प्रारूप के अभ्यस्त होने के लिए नियमित अभ्यास परीक्षण और टेस्ट सीरीज़ लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *