News  

एमपी: उज्जैन स्टेशन से बच्चे की चोरी, जीआरपी टीआई ने मां को गाली दी

  • प्लेटफार्म एक बुकिंग विंडो के पास से दो वर्षीय वंश की चोरी
  • शिकायत दर्ज कराने जीआरपी थाने पहुंची मां
  • जीआरपी टीआई ने गाली दी और थप्पड़ जड़ दिए

उज्जैन, मध्य प्रदेश: 24 दिसंबर की सुबह करीब 10 बजे रेलवे स्टेशन पर बुकिंग विंडो के पास से दो साल के बच्चे की चोरी हो गई। घटना के दौरान मां अपने बच्चे को बेंच पर लिटाकर दूध लेने गई थी, उसी दौरान उसका अपहरण कर लिया गया। . घटना के बाद महिला ने जीआरपी थाने में शिकायत की, लेकिन टीआई ने प्राथमिकी दर्ज करने के बजाय महिला पर बच्चे के अपहरण में शामिल होने का आरोप लगाते हुए उसे भगा दिया. महिला का आरोप है कि उसे थप्पड़ भी मारा गया।

अगले दिन रोगी कल्याण समिति के सदस्य के हस्तक्षेप के बाद पुलिस ने फिर से फुटेज की जांच की तो पता चला कि बच्चा चोरी हो गया है. इसके बाद मामला दर्ज किया गया। बागपुरा निवासी वैष्णवी 23 दिसंबर की रात अपने पति श्रवण से झगड़े के बाद अपने 2 साल के बेटे वंश को लेकर अपनी मायके भोपाल जाने के लिए रेलवे स्टेशन गई थी. जब वह दूध लेने गई और लौटी तो बच्चा गायब मिला।

इस पर वह घबरा गई और जीआरपी थाने पहुंची, टीआई आरएस महाजन ने उसकी शिकायत सुनने की बजाय उसके साथ दुव्र्यवहार किया और उसे थप्पड़ भी जड़ दिया. 25 दिसंबर को महिला दोबारा देवास गेट थाने गई। रोगी कल्याण समिति के सदस्य राजेश बोराना वहां मौजूद थे। महिला को रोता देख उसने उससे रोने का कारण पूछा तो महिला ने बताया कि उसका बच्चा चोरी हो गया है और पुलिस मामला दर्ज नहीं कर रही है।

उसके बाद बोराना ने देवासगेट टीआई राममूर्ति शाक्य से चर्चा की तो उन्होंने बताया कि घटनास्थल जीआरपी का है और जीआरपी उनकी बात नहीं सुन रही है. इसके बाद बोराना उसे जीआरपी टीआई आरएस महाजन के पास ले गए। वहीं महाजन ने बताया कि महिला की शिकायत पर उन्होंने फुटेज चेक किए लेकिन बच्चे को लेकर कोई नहीं दिखा। इस पर बोराना ने फिर से फुटेज देखने को कहा। इसमें करीब 10 बजे एक शख्स बच्चे को गोद में लिए नजर आ रहा है। इसके बाद जीआरपी ने त्वरित मामला दर्ज किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *